एफ। नंबर 13 (15) /Misc./HQ/2017/1825) दिनांक: 25/03/2020

परिपत्र

विषय: COVID-19 के मद्देनजर दिल्ली में हैंड सेनिटाइज़र की उपलब्धता और उत्पादन की समीक्षा

“कोरोना वायरस रोग (COVID-19)” के हालिया वैश्विक प्रसार के मद्देनजर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस प्रकोप को वैश्विक महामारी घोषित किया है। कोरोनावायरस / COVID-19 की प्रसार को सीमित करें करने के लिए भारत सरकार और राज्य सरकारों दोनों द्वारा कई उपाय किए गए हैं जिनमें कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सार्वजनिक और स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा हाथ स्वच्छता के उपयोग जैसे कुछ व्यक्तिगत स्वच्छता मुद्दों पर प्रकाश डाला गया है। एनसीटी सरकार ने COVID ​​-19 की रोकथाम और रोकथाम के लिए महामारी रोग अधिनियम, 1897 के तहत दिल्ली महामारी रोग COVID -19 विनियम 2020 जारी किया है। उसी को ध्यान में रखते हुए, केंद्र सरकार ने 13 मार्च, 2020 के आदेश को रद्द कर दिया और 30 जून, 2020 तक आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत “हैंड सैनिटाइज़र” को आवश्यक वस्तु के रूप में अधिसूचित किया।

यह देखा गया है कि हैंड सैनिटाइज़र या तो बाज़ार के अधिकांश विक्रेताओं के पास उपलब्ध नहीं होते हैं या वे अत्यधिक मूल्य पर बड़ी कठिनाई के साथ उपलब्ध होते हैं। बाजार की अत्यधिक मांग और उपादान की कमी के कारण, आइसो प्रोपाइल अल्कोहल की कीमतें बढ़ गई हैं और लॉज़ो-प्रोपाइल अल्कोहल (आईपीए) आधारित हाथ सेनिटाइजर्स के मौजूदा निर्माताओं को अधिसूचित मूल्य के भीतर उक्त उत्पाद की पेशकश करने में कठिनाई हो रही है। सरकार 19.03.2020 और 21.03.2020 के भारत के पत्रों में सभी राज्य सरकारों और यूटी को हैंड सेनिटाइज़र का उत्पादन बढ़ाने और उपभोक्ताओं को इसकी उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं।

इसलिए वर्तमान स्थिति की सावधानीपूर्वक समीक्षा के बाद, और आपदा प्रबंधन के लिए एक व्यापक एहतियात के रूप में मौजूदा स्थिति का मुकाबला करने और अधिक से अधिक सार्वजनिक हित में, दिल्ली सरकार के एनसीटी के औषधि नियंत्रण विभाग ने निम्नलिखित उपाय किए हैं: 1. सशर्त अनुदान देने के लिए दिल्ली में 30 जून 2020 तक की अवधि के लिए ड्रग्स / होम्योपैथिक दवा निर्माता / सौंदर्य प्रसाधन निर्माताओं के लिए इथेनॉल आधारित हैंड सैनिटाइज़र / हैंड क्लींजर / हाथ रगड़ने की अनुमति / अनुमति केवल जिसे रद्द या वापस ले लिया गया हो, अन्यथा इसे विस्तारित माना जाएगा।

Contd / P2 …

-2 / N-

2. ऐसी सभी बोतलों के लेबल को केवल दिल्ली में बिक्री के लिए निर्दिष्ट करना चाहिए “ताकि निर्माताओं के स्टॉक को दिल्ली के बाहर डायवर्ट न किया जाए।”

3. यह कि उनके द्वारा निर्मित उत्पादों का मूल्य निर्धारण “आवश्यक वस्तु अधिनियम” के तहत अधिसूचित कीमतों के भीतर है।

4. यह निर्माता इस अवधि के दौरान समय-समय पर भारत सरकार और राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए सभी निर्देशों का पालन करेगा। इसकी दृष्टि से। दिल्ली में दवाओं / होम्योपैथिक दवा निर्माताओं / सौंदर्य प्रसाधन निर्माताओं के निर्माताओं से आवेदन आमंत्रित हैं, जो पूर्व निर्धारित शर्तों के अधीन निर्धारित आवश्यकताओं के अनुसार पर्याप्त विनिर्माण अवसंरचना है।

सभी हितधारकों से अनुरोध है कि इसे सर्वोच्च प्राथमिकता पर लें

F. No. 13 (15) /Misc./HQ/2017/ / -t-e जानकारी की प्रतिलिपि बनाएँ: -1। सचिव। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग। 9 ‘मंजिल। दिल्ली सचिवालय, I.P. एस्टेट, नई दिल्ली -110002।

(ए.के. नासा) कार्यालय प्रमुख / नियंत्रण प्राधिकारी / दिनांक –

2. ड्रग कंट्रोलर / स्प्ल। सचिव। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग। 9 वीं मंजिल, दिल्ली सचिवालय। I.P. एस्टेट। नई दिल्ली -110002।

3. डीडीसी / एडीसी / ड्रग इंस्पेक्टर। ड्रग्स कंट्रोल डिपार्टमेंट, जीएनसीटीडी, एफ -17, कड़कड़डूमा, दिल्ली 4. श। ललित मीनल, सहायक आयुक्त, आबकारी, मनोरंजन और विलासिता कर विभाग, एल ब्लॉक- विकास भवन। I.P.Estate, नई दिल्ली – बैठक के कार्यवृत्त के संदर्भ में 110002 दिनांक 23.03.2020

(ए.के. नासा) कार्यालय प्रमुख / नियंत्रण प्राधिकरण /

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s